Love Shayari

अहल-ए-हवस तो ख़ैर हवस में हुए ज़लील वो भी हुए ख़राब, मोहब्बत जिन्हों ने की.

20190713 205000


अब तो मिल जाओ हमें तुम कि तुम्हारी ख़ातिर इतनी दूर आ गए दुनिया से किनारा करते.

20190713 205257


एक धागे के प्रेम में जैसे मोमबत्ती कतरा-कतरा जलती है, बस ऐसा ही प्यार वो पगला मुझसे करता है.

20190713 205502


​इन आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता है दिन कोई भी हो लेकिन त्यौहार हो जाता है.

20190713 205811


कितना प्यार है इस दिल में तेरे लिए, अगर बयां कर दिया तो तू नहीं ये दुनिया मेरी दिवानी हो जायेगी.

20190713 210040

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top