Love Shayari

अब तो गम सहने की आदत सी हो गयी है, रात को छुप – छुप रोने की आदत सी हो गयी है, तू बेवफा है खेल मेरे दिल से जी भर के, हमें तो अब चोट खाने की आदत सी हो गयी है.

20190708 130639

वो खुद पे इतना गुरूर करते हैं, तो इसमें हैरत की बात नहीं, जिन्हें हम चाहते हैं वो आम हो ही नहीं सकते.

20190708 130714


वो मोहब्बत भी तेरी थी, वो नफ़रत भी तेरी थी, वो अपनाने और ठुकराने की अदा भी तेरी थी, मैं अपनी वफ़ा का इंसाफ़ किस से माँगता ? वो शहर भी तेरा था, वो अदालत भी तेरी थी.

20190708 130754


एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम, दूसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम, जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से हमें, फिर भी बारबार तन्हा छोड़ जाते हो तुम.

20190708 130838


जब रात में किसी की याद सताये, हवा जब आपके बालों को सहलाये, कर लेना आँखें बंद और सो जाना और हम आपके ख्वाबों में आ जाये.

20190708 130918

Scroll to Top