Love Shayari

Love Shayari

क्यों कोई अच्छा लगने लगता है आहिस्ता आहिस्ता, खुमार इश्क का चढ़ता है क्यों आहिस्ता आहिस्ता, सफर में ज़िन्दगी के लोग तो बहुत मिलते, दिल में बस जाता कोई शख्स क्यों अहिस्ता आहिस्ता.

20190706 122332


हम जिनके दीवाने है वो गैरों के गुण गाते थे, हमने कहा आपके बिन जी ना सकेंगे, तो हंस के कहने लगे के जब हम ना थे तब भी तो जीते थे.

20190706 122433


दोनों आखों मे अश्क दिया करते हैं हम अपनी नींद तेरे नाम किया करते है, जब भी पलक झपके तुम्हारी समझ लेना हम तुम्हे याद किया करते हैं.

20190706 122520


उन्होंने अपना कभी बनाया ही नहीं, झूठा ही सही प्यार दिखाया ही नहीं, गलतियां अपनी हम मान भी जाते, पर क्या करें कसूर हमारा हमें बताया ही नहीं.

20190706 122704


हर प्यार में एक एहसास होता है, हर काम का एक अंदाज होता है, जब तक ना लगे बेवफाई की ठोकर, हर किसी को अपनी पसंद पे नाज़ होता है.

20190706 122810