Dosti Shayari

Dosti Shayari

आदतें अलग हैं मेरी दुनिया वालों से,
दोस्त कम रखता हूँ पर लाजवाब रखता हूँ।..

20190701 122137


 ऐ दोस्त अब क्या लिखूं तेरी तारीफ में. 
बडा खास है तु मेरी जिंदगी में

20190701 122227


नाम मे क्या रखा है दोस्तों,
आशा नाम की लड़की से भी हमे
निराशा ही हाथ लगती है.

20190701 122319


डिग्रियाँ तो तालीम के ख़र्चों की रसीदें हैं, दोस्तो
इल्म तो वही है, जो इंसान के किरदार से झलकता है.

20190701 122442


*बे-वजह देख रहा हु परेशाँ तुम्हें ‘दोस्त*
*#दीवाने भी लगते नहीं #आशिक़ भी नहीं हो….!!*

20190701 122555